Monday, April 6, 2009

खुला गगन सबके लिए है..........

उजाले को पी अपने को उर्जावान बना
भटके लोगो को सही रास्ता दीखा
उदास होकर तुझे जिंदगी को नही जीना
खुला गगन सबके लिए है , कभी मायूश होना
तुम अच्छे हो, खुदा की इस बात को सदा याद रखना

2 comments:

dr.bhoopendra singh said...

kisi blog par aapka yahi comment tha jo aapke blog tak laya mujhe.
You are very optimistic and I like it ,never loose heart my dear ,you can think, you can write, you can do any thing you wish but be patient ,be optimistic which is yr strength.
best wishes
dr.bhoopendra

Babli said...

बिल्कुल सही कहा आपने! हमेशा खुश रहना चाहिए हर किसी को पर कभी न कभी दुःख का साया पड़ ही जाता है!